प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया आत्म निर्भर नारी शक्ति से संवाद , देश भर की बहनों को रक्षाबंधन की दी शुभकामनाएं !

ख़बर शेयर करें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियों कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से देश के विभिन्न प्रान्तों से जुड़ी महिला स्वंय सहायता समूह के साथ मन की बात में आत्म निर्भर नारी शक्ति से सीधे संवाद कर उनके द्वारा चलाये जा रहे ग्रोथ सेन्टर व अन्य क्षेत्रों में उत्पादित उत्पादों तथा उससे होने वाली आमदनी के बारे में विस्तार से चर्चा की। उन्होने सभी महिलाओं को रक्षाबंधन की शुभकामनाऐं व बधाई दी।

उन्होने कहा कि इस योजना से देश के 08 करोड़ बहनो को जोड़ा गया है ताकि हमारी माता-बहने आत्म निर्भर बन सकें। प्रधानमंत्री ने कहा कि ग्रोथ सेन्टरो से जुड़ी महिलाओं से अपने उत्पादो को ऑनलाईन के माध्यम से बिक्री करें। उन्होने कहा कि कम्पनियों के साथ तालमेल भी बनाये ताकि उत्पादों को अच्छा बाजार मिल सकें। उन्होने कहा कि महिलाऐं अपने-अपने क्षेत्र में जो काम कर रही है उससे अलग भी समाज के लिये कोई नया कार्य करें जैसे स्वच्छता, कुपोषण, शिक्षा, आजीविका आदि के क्षेत्र में लोगों को जागरूक करें ताकि अधिक से अधिक महिलाऐं स्वरोजगार से जुड़े। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि नारी शक्ति के मन में कुछ करने की इच्छाशक्ति है तो वह कर सकती है। आप लोगों के सहयोग से आने वाले समय में भारत को पूर्ण आत्म निर्भर बनाया जा सकता है।नैनीताल जिले में राष्टीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत गठित हल्द्वानी ब्लाक के फत्ताबंगर ग्राम की एकता स्वयं सहायता समूह ने कोरोना काल में बहुत अच्छा कार्य किया। वर्ष 2012 में पुष्पा व मीरा द्वारा एकता समूह का गठन किया गया,समूह द्वारा ऑरगेनिक साग-सब्जी का कार्य किया जाता है। उसके द्वारा जनपद के अलावा प्रदेश के बाहर भी आरगेनिक सब्जियो का व्यापार किया जाता है, इससे समूह प्रत्येक माह लगभग 30 हजार का मुनाफा कमाता है। उन्होने बताया कि एकता समूह द्वारा कोविड महामारी के दौरान कोविड सेन्टर मोटाहल्दू मे कोविड मरीजों एवं जरूरत मंदों हेतु कैन्टीन के माध्यम से भोजन व्यवस्था की गई इसके लिए एकता स्वयं सहायता समूह की पुष्पा पढालनी व मीरा आर्या को कोविड वारियर्स के रूप मे स्थान दिया गया है। कैन्टीन संचालन के लिए जिला प्रशासन एवं जिला मिशन प्रबन्धन ईकाई व विकास खण्ड द्वारा हल्द्वानी द्वारा सहयोग किया गया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी द्वारा ग्रामीण क्षेत्रो की 75 प्रेरणादायी स्वयं सहायता समूहों की सफलता की कहानी पुस्तक का विमोचन भी किया गया।

 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments