चुनावी ऐलान के बाद प्रदेश में प्रत्याशियों को क्या क्या करना होगा क्या क्या करेगा प्रशासन , जानिए !

ख़बर शेयर करें

देहरादून

उत्तराखंड समेत पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के तारीखों का ऐलान हो गया है। चुनावी ऐलान के बाद उत्तराखंड मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने प्रेसवार्ता कर बताया कि उत्तराखंड में सेकंड फेस में चुनाव होंगे , जिसके तहत प्रदेश में 14 फरवरी को मतदान सुनिश्चित किया गया है ।उन्होंने ने बताया कि 48 घंटे के भीतर सरकारी संपत्ति पर पार्टियों के एडवर्टाइजमेंट को रिमूव किया जाएगा , किसी भी सरकारी संपत्ति पर एडवर्टाइजमेंट के लिए परमिशन लेनी होगी। यही नही, सरकारी मद से दिये गये विज्ञापन भी आज से बन्द हो जाएंगे। चुनाव के दृष्टिगत निर्वाचन आयोग की फ्लाइंग स्कॉर्ड तैयार हो रही हैं। सौजन्या ने बताया कि अवैध शराब, पैसा, प्रलोभन आदि पर सख्त कार्रवाही की जाएगी। यही नही, पेड न्यूज पर भी कड़ी निगरानी की जाएगी , साथ ही चुनाव में कोविड नियमो का सख्ती से पालन कराया जाएगा।

सौजन्या ने बताया कि जिला अधिकारियों को राजनीतिक पार्टियों के जनसभाओं की जिम्मेदारी दी गयी है कि दलों की जनसभाएं कहा होगी ये जिलाधिकारी तय करेंगे। साथ ही यह भी जिलाधिकारी तय करेंगे कि कोविड के नियमो का पालन कैसा होगा, कितने लोग सभाओं में शामिल होंगे। यही नही, सभाओं में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य होगा। हालांकि, निर्वाचन आयोग ने सभाओं के लिए प्रदेश भर में 600 मैदान चिन्हित किये है।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि नॉमिनेशन ऑनलाइन भी किया जा सकेगा, उसी नॉमिनेशन को भौतिक रूप से भी दिया जा सकता है, चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार अगर किसी दूसरी जगह पर वोटर है तो उन्हें आरओ से सर्टीफिकेट लेना जरूरी होगा। कोविड को लेकर डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट का पूर्ण रूप से पालन किया जाएगा। पदयात्रा, रोड सो, साइकिल रैली या किसी भी प्रकार की सभा 16 जनवरी तक नही होंगी।  कोरोना को देखते हुए रैली- जनसभाओं की संख्या बाद में तय की जाएगी, और इसके लिए जिलाधिकारी परमिशन देंगे।

रैली जनसभा में मास्क, थर्मल स्केनर, सेनेटाइजर होना आवश्यक होगा। कैम्पेनिंग के लिए 30 से ज्यादा स्टार प्रचारक नही होंगे। डोर टू डोर कैम्पेनिंग में 5 लोगों से ज्यादा लोग शामिल नही होंगे। नॉमिनेशन प्रोसेसिंग में ऑनलाइन भी फार्म मिलेगा। पोलिंग स्टाफ कोविड की डबल डोज का होगा अनिवार्य है। मतदान के समय मतदाताओं की थर्मल स्कैनिंग होंगी। इसके अतिरिक्त सी विजिल एप्प में कोई शिकायत करता है तो शिकायत करने के 24 घण्टे के भीतर कार्रवाई होगी। नॉमिनेशन फार्म जमा करने के लिए केवल 2 लोग ही जा सकते हैं।

 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments