कॉंग्रेस सलमान खुर्शीद की टिप्पणी के साथ नही ,उनको अपना वक्तब्य बदलना चाहिए

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी

सलमान खुर्शीद की विवादित टिप्पणी पर पूर्व सीएम हरीश रावत का बयान ,

सलमान खुर्शीद को अपना वक्तव्य बदल लेना चाहिए ,

जो तुलना समाज के बीच में विष फैलाने वाले लोगों को ताकत देती है ऐसी तुलना करने से किसी भी राजनेता को बचना चाहिए ,

कांग्रेस और हरीश रावत सलमान खुर्शीद के उस बयान से असहमत हैं ,

सलमान खुर्शीद ने ‘सनराइज ओवर अयोध्या’ नाम की किताब लिखी है ,

हिंदुत्व की तुलना कट्टर इस्लामी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट और बोको हराम से की है ,

यह भी पढ़ें 👉  क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो ने आयोजित किया आजादी का "अमृत महोत्सव" को लेकर जन जागरूकता कार्यक्रम !

अभिनेत्री कंगना रनौत ने कहा 1947 में भीख जबकि असली आजादी तो 2014 में मिली वाले बयान पर हरीश रावत ने कहा ,

अब कुछ लोग यह भी कहेंगे कि जब मोदी पैदा हुए तब देश को आजादी मिली ।

हमारा मानना है कि देश में जागृति आये और कांग्रेस उस जागृति का माध्यम बने ।

 

कांग्रेस नेता और पूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीद के विवादित बयान पर उत्तराखंड के पूर्व सीएम और कॉंग्रेस से राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने कहा है कि सलमान खुर्शीद को अपना वक्तव्य ठीक कर लेना चाहिए, क्योंकि जो टिप्पणी समाज के बीच में विष फैलाने वाले लोगों को ताकत देती है ऐसी तुलना करने से किसी भी राजनेता को बचना चाहिए ,उन्होंने दो टूक शब्दों में कहा कि कांग्रेस और हरीश रावत सलमान खुर्शीद के ऐसे वक्तव्य से पूरी तरह असहमत हैं, गौरतलब है कि कांग्रेस नेता और पूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीद ने सनराइज ओवर अयोध्या नाम की किताब लिखी है जिसमें उन्होंने हिंदुत्व की तुलना कट्टर इस्लामी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट और बोको हराम से की है ।

यह भी पढ़ें 👉  क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो ने आयोजित किया आजादी का "अमृत महोत्सव" को लेकर जन जागरूकता कार्यक्रम !

 

वहीं बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत के सन 1947 में आजादी नही भीख मिली जबकि असल आजादी तो सन 2014 में मिली जब मोदी पीएम  वाले बयान पर हरीश रावत ने कहा कि अब कुछ लोग यह कहेंगे कि जब मोदी पैदा हुए तब देश को आजादी मिली, दरअसल यह भाजपा के लोगों की सोच है, हमारा मानना तो यह है कि देश में जागृति आए और कांग्रेस उस जागृति का माध्यम बने।

यह भी पढ़ें 👉  क्षेत्रीय लोक संपर्क ब्यूरो ने आयोजित किया आजादी का "अमृत महोत्सव" को लेकर जन जागरूकता कार्यक्रम !

 

 

 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments