ऑनलाइन शॉपिंग के नाम से ठगी , दिल्ली से ठग गिरफ्तार !

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी

साइबर अपराधियों को पकड़ने में पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी ,

3 आरोपी गिरफ्तार,

दिल्ली सँगमविहार में कॉल सेंटर से ऑपरेट होती थी शॉपिंग वेबसाइट ,

2 आरोपी हरियाणा और 1 आरोपी राजस्थान का रहने वाला ,

2 लैपटॉप, 8 कम्प्यूटर, 19 मोबाइल, 3 एक्सटेंशन बोर्ड बरामद ,

आरोपियों के द्वारा अलग अलग समय पर नई नई वेबसाइट बनाई जाती थी ,

नई शॉपिंग वेबसाइट बनाकर ऑन लाइन शॉपिंग करने का झांसा देकर करते थे फ्रॉड ,

वेबसाइट पर सामान सेलेक्ट करने के बाद जीएसटी के नाम पर अपने खाते में पैसे डलवाते थे आरोपी ,

सामान डिलीवर ना होने पर ग्राहक की शिकायत के बाद वेबसाइट बंद कर देते थे ।

 

नैनीताल पुलिस को बडी सफलता ऑन लाइन शॉपिगं के नाम पर साईबर बैंक फ्रॉड करने वाले अर्न्तराज्यीय गैंग के 03 सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है ।

अंकित शाह निवासी आनंदपुरी फेस.3 के द्वारा दिनांक 19.8.2021 को थाना मुखानी में तहरीर दी थी कि ऑफर ऑल टाइम की ओर से अज्ञात व्यक्ति के द्वारा कॉल करके बताया कि हमारी कंपनी नई लांच हुई है तथा हमारी कंपनी की ओर से आपका नंबर सिलेक्ट किया गया है इसलिए आप हमारी कंपनी से कोई एक प्रोडक्ट सिलेक्ट करके रजिस्ट्रेशन करा लीजिए वादी द्वारा एक जैकेट कीमत ₹1004 की सिलेक्ट की गई बाद फिर पुनः सुनील सक्सेना नाम के व्यक्ति का कॉल आया व उनके द्वारा बताया गया कि आपको एक मोबाइल फोन गिफ्ट दिया जा रहा है जिसे प्राप्त करने के लिए आपको 10% GST  देनी होगी वादी द्वारा गूगल पे के माध्यम से UPI नंबर पर 12,390 अकाउंट में डाल दिए गए तथा उनके द्वारा बताया गया कि यह रुपए आपके अकाउंट में वापस आ जाएंगे ।
पुलिस द्वारा की गयी कार्यावाही

साईबर फ्रॉड का खुलासा करने के लिए प्रीती प्रियदर्शिनी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल के निर्देशानुसार,  पुलिस टीम गठित कर मुकदमें में प्रयुक्त मोबाईल नबरों को सॉर्विलॉस पर लगाकर आवश्यक सूचना संकलन की गयी तथा उक्त सूचनाओं का विश्लेषण कर दिनांक 15-09-2021 को मुखानी पुलिस टीम के द्वारा साउथ दिल्ली संगम बिहार स्थित कॉल सेन्टर पर दबिश दे कर मौके से 03 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर ऑन लाइन शॅपिंग साइबर फ्रॉड में प्रयुक्त सामग्री बरामद की गयी ।

*website:-* 1- offer buy one. com, 2- offer all time .com गैग द्वारा गुजरात के डवपर से समय-समय पर नयी-नयी वेवसाइट बनायी जाती है जो कि कम दामों में लगभग 5 से 10 हजार में बनायी जाती हैं।
*call centre:-* गैग द्वारा दिल्ली में घन्नी आबादी वाले क्षेत्रों के 02 BHK फ्लैट में किराये में लेकर कॉल सेन्टर खुले जाते है जहॉ से कॉल कर ग्राहकों को फॅसया जाता है।
*management*
गैग द्वारा उक्त कॉल सेन्टर में 01 मैनजर नियुक्त किया जाता है तथा 07-08 कॉलिंग एजेंट रखे जाते है जोकि प्राप्त डाटा/मोबाईल नम्बर को कॉल कर साईबर फ्रॉड को अजाम देते है मैनेजर *field boy* का कार्य करता है जो कि सभी कॉलिंग एजेण्टों की आवश्यकता पूरी करता है।
*data प्राप्त करने का तरीका* गैग को मोबाईल नम्बरों का डाटा 02 माध्यमों से प्राप्त होता है
*1-* मोबाईल कम्पनी/शॉपिंग कम्पनी से डाटा प्राप्त किया जाता है
*2-* सम्बन्धित साइट में ऑन लाइन रजिट्रेशन फॉम सेभी मोबाईल डाटा प्राप्त किया जाता है।
गैग के द्वारा जो वेवसाइट बनायी जाती है वो बिल्कुल ओरिजिनल जैसी बनायी जाती है तथा माल डिलवर ना होने पर/फ्रॉड करने के बाद जो शिकायत प्राप्त होती है उन शिकायतकर्ताओं को उलझने के लिये 02 लडके अलग से नियुक्त होते है तथा अधिक शिकायतें प्राप्त होने पर उक्त वेवसाइट को बन्द करके नयी वेवसाइट बनायी जाती है। जॉच करने पर अभी तक 10,000 लोगों को कॉल करने की डिटेल प्राप्त हुई है तथा उक्त कम्पनी के विरूद्व अलग-अलग जगहों पर 04 ऑन लाईन शिकायतों की पुष्टि हुई है कि
*offer buy one. com* को अधिक शिकायत आने पर बन्द कर दिया गया जबकि *offer all time.com* का लगातार चलाये जा रहा है। प्रत्येक दिन कॉलिंग ऐजेण्ट 100 से भी ज्याद कॉल करते है।

गिरफ्तार अभियुक्त
1- सुरेश कुमार पुत्र ईश्वर दास निवासी मस्टर मौ0 थाना गोन्दिपुरी नई दिल्ली , मूल निवासी देवगांव राजस्थान

2- चेतन शर्मा पुत्र गजेन्द्र गौहर निवासी आल्ड फरिदाबाद थाना फरिदाबाद हरियाणा

3- नगेन्द्र पुत्र घनश्याम निवासी ग्राम दौलताबाद सेक्ट्रर-12 फरिदाबाद हरियाणा।

फरार आरोपी

1-राजेश तोमर उर्फ राजू पुत्र धर्म सिंह निवासी बद्ररपुर नई दिल्ली (वांछित )
अभियुक्त का आपराधिक इतिहास

1 ) घटना में प्रयुक्त 01 मोबाइल व अन्य घटनओं में प्रयुक्त 18 मोबाइल कुल 19 मोबाइल बरामद

02) लेपटॉप कम्पनी डेल
3) 08 सी0पी0यू0 मय मोनीटर मय की बोर्ड
4-)03 एक्सटेंशन बोर्ड मय क्नेक्टिगं वायर

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments