कालाढूंगी सीट से गजराज मैदान में भगत की बढ़ सकती हैं मुश्किलें , कॉंग्रेस लाभ की स्थिति में

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी

कालाढूंगी विधानसभा सीट से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे गजराज बिष्ट बीजेपी से टिकट न मिलने के बाद निर्दलीय मैदान में उतर गए हैं उन्होंने बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व पर उनकी अनदेखी का आरोप लगाया उन्होंने कहा कि मैं पिछले 34 साल से पार्टी से जुड़ा हुआ हूँ और वरिष्ठतम कार्यकर्ता हूँ फिर भी पार्टी में उनकी अनदेखी है , उन्होंने कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत और भाजपा पर जमकर निशाना साधा उन्होंने कहा कि यहां परिवारवाद और पैसे वालों को टिकट दिया जाता है ,जिनके मां बाप नहीं है और दिल्ली में जिनकी पकड़ नहीं है उनके लिए भाजपा में नहीं कोई जगह नही है भाजपा नेताओं के दिल में मेरे लिए कोई जगह नही केवल नफरत भरी है ,यह कहते हुए गजराज कई बार भावुक भी हुए उनकी आंखों से आंसू छलक पड़े । उन्होंने कहा कि कालाढूंगी से निर्दलीय मैदान में उतरने के बाद उनको लोगों का अपार समर्थन मिल रहा है ,उन्होंने बीजेपी नेतृत्व पर आरोप लगाते हुए कहा कि जो लोग आज पार्टी जॉइन कर रहे हैं उनको तुरन्त टिकट दिया जा रहा है जबकि जमीनी कार्यकर्ताओं की घोर अनदेखी की जाती है , बीजेपी से बगावत कर चुनाव न लड़ने की अपील करने वाले पूर्व सीएम विजय बहुगुणा पर भी गजराज ने निशाना साधते हुए कहा कि 2014 में भ्रष्टाचारी विजय बहुगुणा को खुद कांग्रेस ने हटाया और भाजपा ने उन्हें पार्टी में लिया और पूरा मान सम्मान दिया ,गजराज सिंह बिष्ट मंडी परिषद अध्यक्ष के साथ ही भाजपा के प्रदेश महामंत्री के पद पर भी रहे हैं ।उनके मैदान में उतरने से कालाढूंगी सीट से कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत की मुश्किलें बढ़ सकती हैं क्योंकि यदि गजराज इस सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ते हैं तो इसका सीधा नुकसान बीजेपी को उठाना पड़ सकता है ,हालांकि कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत ने कहा है कि गजराज से बातचीत कर ली जाएगी चुनाव में यह सब चलते रहता है।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments