गौलापार में क्षतिग्रस्त सिचाई नहर का कुमाऊं कमिश्नर ने किया निरीक्षण , अधिकारियों को रिपेयरिंग कार्य में तेजी लाने के दिए निर्देश

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी

गौलापार स्थित क्षतिग्रस्त सिंचाई नहर का कुमाऊँ कमिश्नर ने किया निरीक्षण । इस दौरान मुख्य अभियंता चन्द्र शेखर ने कुमाऊं आयुक्त को अवगत कराया गया कि नहर के पुनर्निमाण हेतु प्राकलन तैयार किया गया है , जिसमें पाइप के माध्यम से सुरक्षित क्षेत्र से पानी को चलाया जाएगा। मुख्य अभियंता ने बताया कि क्षतिग्रस्त क्षेत्र पर पुनर्निमाण का कार्य किया जाना सम्भव नहीं है क्योंकि तकनीकी दृष्टिकोण से पुनः नहर के टूटने का खतरा बना रहेगा। अक्टूबर 2021 में आई बाढ़ से गौलापार की सिंचाई की मुख्य नहर क्षतिग्रस्त होने से गौलापार के लगभग 10 हजार कृषकों की 2.5 हजार हेक्टयर सिंचाई की भूमि प्रभावित हुई थी। नहर की मरम्मत हेतु आयुक्त द्वारा वैकल्पिक व्यवस्था के निर्देश सिंचाई विभाग को दिए गए , जिससे बरसात से पूर्व नहर न टूटे। इस कार्य हेतु आयुक्त द्वारा 21 लाख रुपये की धनराशि सिंचाई विभाग को आवंटित की गई थी। विदित है कि गौलापार की भूमि उपजाऊ है व वृहद पैमाने पर कृषि की जाती है। कृषकों की आर्थिकी पर प्रतिकूल प्रभाव न पड़े इसके लिए सिंचाई विभाग द्वारा आयुक्त द्वारा आवंटित की गई धनराशि से टूटी नहर को रिस्टोर किया गया था।
मुख्य अभियंता सिंचाई चन्द्र शेखर द्वारा बताया गया कि क्षतिग्रस्त नहर के पुनर्निर्माण हेतु 5 करोड़ 84 लाख का आकलन तैयार शासन को प्रस्ताव भेजा गया है। प्रस्ताव पारित होते ही शीघ्र ही कार्य शुरू कर दिया जाएगा।

 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments