बड़ी खबर–धामी सरकार की बड़ी करवाही ,आईएफएस पर आय से अधिक सम्पति रखने पर मुकदमा

ख़बर शेयर करें

देहरादून

 

 भ्रष्टाचार पर धामी सरकार की बड़ी कार्रवाई हुई है , सरकार ने आईएफएस किशनचंद के खिलाफ अभियोग चलाने की अनुमति दे दी है। हालाकि, अभी केंद्र सरकार से इसकी अनुमति मिलनी बाकी है। आईएफएस किशन चंद के पास आय से अधिक संपत्ति है जिसकी जांच विजिलेंस विभाग कर चुकी है। जांच के बाद विजिलेंस ने आईएफएस किशनचंद की चार्जशीट बना ली है। ऐसे में अब चार्जशीट कोर्ट में दाखिल कर विजिलेंस मुकदमा चलाएगी।

विजिलेंस टीम ने आईएफएस किशन चंद के खिलाफ तैयार की गई चार्जशीट में आरोप लगाया है कि किशन चंद्र ने अपने आय से 375 गुना ज्यादा संपत्ति अर्जित की। यही नहीं, विजिलेंस ने 33 करोड़ की संपत्ति का खुलासा भी किया है। इस संपत्ति में किशनचंद की मात्र सात करोड़ की संपत्ति है। जबकि ज्यादातर संपत्ति परिजनों के नाम खरीदी गई है। भोगपुर में बेटे के नाम से अभिषेक स्टोन क्रेशर लगाया। पिरानकलियर में पत्नी के नाम से ब्रज इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल बनाया है। यही नहीं, स्कूल के लिए पत्नी के नाम पर ट्रस्ट बनाया। अपने नाम संपत्ति खरीदने के लिए ट्रस्ट से लिए गए ऋण को अभी तक नहीं लौटाया है।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर - 21 से 24 मई तक मौसम बिभाग का अलर्ट , पहाड़ों समेत मैदानी इलाकों में भारी बारिश और आंधी चलने की संभावना

इस ट्रस्ट में लोगों से बड़ी धनराशि जमा कराई गई। साथ ही विजिलेंस ने चार्जशीट में जिक्र किया है कि हरिद्वार में डीएफओ रहते हुए लैंसडौन प्रभाग में लोगो को नौकरी देने की एवज में उनकी जमीने अपने नाम करा ली। इसके साथ ही देहरादून बसंत विहार में 2.40 करोड़ का मकान ख़रीदा। मकान के लिए 60 लाख का स्कूल के ट्रस्ट से ऋण लिया। पत्नी के खाते से 1.80 करोड़ लिए गए। इस पैसे को एक दिन पहले अलग अलग लोगों से जमा करवाया। आईएफएस अधिकारी के खिलाफ विजिलेंस द्वारा दाखिल की जा रही चार्जशीट के सवाल पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि हम भ्रष्टाचार मुक्त उत्तराखंड बनाना चाहते हैं उस दिशा में जो जरूरी होगा वो काम सरकार करेगी।

यह भी पढ़ें 👉  केंद्र सरकार ने पैट्रोलियम पदार्थों के दाम घटाए , जनता को मिली थोड़ी सी राहत

 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments